Wednesday, 31 October 2012






                        ज्ञानं प्रधानं न तु कर्महीनं कर्म प्रधानं न तु बुद्धिहीनम्  
                                                                             (भागवत 4/24/75)
     
                        ज्ञान प्रधान है परंतु कर्महीन नहीं और कर्म भी प्रधान है
                        परंतु बुद्धिहीन नहीं! 

No comments:

Post a Comment